मोखाडा (महाराष्ट्र) में श्रध्दाजागरण

अपने वनवासी बन्धुओं का सर्वांगीण विकास यह अपना लक्ष्य है। इस हेतु कार्य करते समय जनजाति समाज की अस्मिता का संरक्षण एवं संवधर्न करना भी अपने कार्य का महत्वपूर्ण अंग है। अस्मिता जागरण के कारण समाज का अस्तित्व रहेगा और अस्तित्व होगा तभी तो विकास के प्रयास करने होंगे। श्रद्धाजागरण आयाम इसीलिये कार्य कर रहा है। समय समय पर गाँव से लेकर विभिन्न स्तर पर प्रशिक्षण वर्ग का आयोजन होता है। कल्याण आश्रम के श्रध्दाजागरण आयाम द्वारा प्रशिक्षण वर्ग 23 – 24 अप्रेल 2018 को देवभान केंद्र (तहसील मोखाडा) जिला पालघर, कोंकण प्रांत में संपन्न हुआ। वर्ग में 17 ग्राम के 52 कार्यकर्ता उपस्थित हुये।

“Newletter”

We Are Social