डिमापुर में रानी गाईदिन्ल्यु बालक छात्रावास के नवीन भवन का लोकार्पण

डिमापुर में रानी गाईदिन्ल्यु बालक छात्रावास के नवीन भवन का लोकार्पण डिमापुर के सिंगल अंगामी में बस्ती में रानी गाईदिन्ल्यु बालक छात्रावास के नवीन भवन का लोकार्पण 2 फरवरी 2020 को हुआ। इसके लिए जनजाति विकास समिति के कार्यकर्ता तथा डिमापुर की नगर समिति के कार्यकर्ता कई समय से कार्यरत थे। वैसे बालक छात्रावास सन…

अब, जम्मू-कश्मीर में भी कल्याण आश्रम का प्रवेश

अब, जम्मू-कश्मीर में भी कल्याण आश्रम का प्रवेश हम सभी के लिए यह एक अत्यंत आनंद के समाचार है कि वर्तमान में जन्मू-कश्मीर के कठूआ जिले में अपने कार्य का शुभारम्भ हुआ है। क्षेत्र संगठन मंत्री स्थानीय कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर इस हेतु पिछले कई समय से प्रयत्नशील थे। कठुआ जिले में गद्दी जनजाति निवासी…

जंगल टुरिजम नई कल्पना, या नया संकट ?

जंगल टुरिजम नई कल्पना, या नया संकट ? आनंद              इशिता खन्ना पर्यटन उद्योग में एक युवा नाम। ये महिला उद्योजक पर्यटाकों को घर जैसी सुविधा देने में जानी जाती है। उनके द्वारा ग्रामीणों को इसके लिए प्रशिक्षित भी किया गया। पर्यटाकों को मिले अच्छी सुविधा और ग्रामीणों का हो…

वनवासी कल्याण आश्रम ब्रु जनजाति के साथ हुई समझौते का स्वागत करता है।

वनवासी कल्याण आश्रम ब्रु जनजाति के साथ हुई समझौते का स्वागत करता है। नागपुर से प्राप्त समाचार अनुसार ज्ञात हुआ कि जातिगत संघर्ष के कारण ब्रु जनजाति के लगभग 34000 लोगों को 1997 में मिजोराम से पलायन कर त्रिपुरा में शरण लेना पड़ा था। अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम केन्द्र सरकार व्‍दारा बु्र (रियांग) जनजाति…

कानपुर ने देखा तीरंदाजी का कौशल और कबड्डी में साहस

कानपुर ने देखा तीरंदाजी का कौशल और कबड्डी में साहस पंडित दीनदयाल उपाध्याय सनातन धर्म विद्यालय-कानपुर में अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम की ओर से 22वी राष्ट्रीय एकलव्य खेलकूद स्पर्धा का आयोजन हुआ। 29 दिसम्बर 2019 को केन्द्रीय जनजाति मंत्री अर्जुन मुण्डा और प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डाॅ. दिनेश शर्मा ने प्रतियोगिता का शुभारम्भ किया। उपमुख्यमंत्री…

संताली भाषा – संताल परगणा के जनजातियों की अपनी भाषा

संताली भाषा – संताल परगणा के जनजातियों की अपनी भाषा संताली भाषा भारत की पुरातन भाषाओं में से एक और संताल परगणा में बोली जानेवाली जनजाति भाषा है। वैसे ये झारखण्ड के साथ-साथ आसपास के राज्य जैसे की बिहार, उडिसा, बंगाल, असम, मेघालय, मिजोरम एवं त्रिपुरा के कुछ क्षेत्र में भी बोली जाति है और…

हरिद्वार में आयोजित अखिल भारतीय बैठक का संदेश जनजाति समाज आक्रमणों को पहचानें , साहस के साथ आगे बढे़ं…
जनजाति धर्म-संस्कृति-परंपरा के साथ हो रही छेडछाड़ बंद हो

जनजाति धर्म-संस्कृति-परंपरा के साथ हो रही छेडछाड़ बंद हो रमेश बाबू जनजति समाज के परंपरागत धर्म संस्कृति, भारत की सनातन संस्कृति का अभिन्न अंग है। वेदों में वर्णित इस जीवन पद्धति के आधार पर अनादि काल से जीवन जी रहे अपने जनजाति बन्धु भारत के सनातन समाज की रीड है। भारतीय संस्कृति का आविर्भाव गिरिकन्दरों…

गुजरात के अंबाजी में एक अनोखा लग्नोत्सव

गुजरात के अंबाजी में एक अनोखा लग्नोत्सव हमारे जनजाति बन्धु के वास्तविक जीवन को जानना है तो सुदूर वन-पर्वतों के ग्रामीण क्षेत्र में परिवारों के साथ रहना होगा। कई परिवार ऐसे होते है जिनके घर की आर्थिक स्थिति के कारण लड़का-लड़की साथ में रहते हुए भी उनका विवाह होना बाकी होता है। आगे चलकर कुछ…

बाँस के भगवान राम और हनुमान

बाँस के भगवान राम और हनुमान झारखण्ड के फुलजोरी गाँव (गिरिडीह जिला) के संतोष ने बाँस से भगवान राम और हनुमान की प्रतिमा बनाई। कुछ समय पूर्व उसने भारत माता और राधा कृष्ण की प्रतिमा भी बनाई थी। बचपन से अपने माता-पिता के साथ हाथ बंटाने, पिता राज कुमार मोहली के साथ बाँस की विभिन्न…

Relief Work during Lockdown
अण्डमान में संकट के समय वनवासी परिवार को सहायता

अण्डमान में संकट के समय वनवासी परिवार को सहायता                         अण्डमान के मायाबंदर में 2 फरवरी 2020 को एक दुर्घटना हुई, जब सुधेसर राम के घर को आग लई। देखते देखते सारा घर और साथ में संग्रहित अनाज सारा जल गया। घर भले ही…

previous arrow
next arrow
Slider
शिमला में विवेकानंद छात्रावास
previous arrow
next arrow
previous arrownext arrow
Slider

News & Press Releases

Join the cause

Video Gallery

Photo Gallery

Sports खेलकूद

Sports खेलकूद अपने वनवासी बन्धुओं में शारीरिक क्षमता एवं कौशल विपूल मात्रा में है। सुदूर गाँवों में जाना खेल प्रतिभाओं की शोध कर उन्हें प्रशिक्षण देकर अवसर प्रदान करना यह खेलकूद आयाम का महत्वपूर्ण कार्य है। आज कई वर्षों से इस खेलकूद के क्षेत्र में कार्यरत वनवासी कल्याण आश्रम ने अनेक उपलब्धियाँ पाई। खेल जगत…

URBAN ACTIVITIES

URBAN ACTIVITIES (नगरीय कार्य) वनक्षेत्र में आज शिक्षा, चिकित्सा सुविधा, आर्थिक विकास की दिशा में हमें कमियाँ दिखाई पड़ रही है। अगर नगरों में रहनेवाला समाज 100 वर्ष पूर्व ही जागृत एवं सचेत होकर अपने वनवासी बन्धुओं के बारे में सक्रीय हुआ होता तो आज चित्र कुछ और होता। नगरीय समाज की उदासीनता, उपेक्षा एवं…

VILLAGE DEVELOPMENT

VILLAGE DEVELOPMENT (ग्राम विकास) भारत गाँव में बसता है। गाँव का विकास ही सही में भारत का विकास है। जनजाति समाज भी अधिकतम छोटे-छोटे गावों में, पाडों में, टोले में बसता है। सुदूर वन पर्वतों में बसता है। इस जनजाति समाज का विकास करना ही हम सभी का लक्ष्य है। इस हेतु ग्राम विकास यह…

Health Care स्वास्थ्य

किसी भी संवेदनशील व्यक्ति को अत्यंतीक पीड़ा देनेवाली बात यह है की वन पर्वतों में बसे गाँवों में यदि किसी बिमार व्यक्ति को दवाई अथवा उपचार की आवश्यकता है और वह उसके गाँव में यदि उपलब्ध नहीं है तो उसकी क्या स्थिति होगी ? तब उसे कई किलो मीटर…

Education शिक्षा

शिक्षा सभी बालकों का अधिकार है और सुदूरवर्ती जनजाति क्षेत्रों में तो शिक्षा की सविशेष आवश्यकता है। आज भी विद्यालयों की संख्या कम होने के कारण वनवासी बालकों को दूर दूर तक जाना पडता है। जहाँ विद्यालय है वहाँ उसके गुणवत्ता पर भी प्रश्न चिन्ह है। सरकार के साथ कई सामाजिक संगठन भी वनवासी…

प्रचार- प्रसार, प्रकाशन

विचारों का प्रचार, कार्य का प्रचार जानकारियों का संकलन कर सम्बन्धित क्षेत्रों में संप्रेषण को प्रचार-प्रसार कहते है। भारत की यह प्राचीन परम्परा है। नारद मुनि इसके आदर्श है। वर्तमान युग के अनुरूप अद्यतन सभी व्यवस्थाओं का उपयोग कर जनजाति जगत से जुड़ी जानकारियों के प्रचार हेतु वनवासी कल्याण…

छात्रावास

यह भी शिक्षा क्षेत्र से ही जुड़ा प्रकल्प है। वैसे कल्याण आश्रम की स्थापना ही एक छात्रावास के द्वारा हुई थी और किसी भी व्यक्ति हम उसी के माध्यम से कल्याण आश्रम का काम दिखा सकते है। आज हम देश में 219 छात्रावासों का संचालन कर रहे है। इसमें 43 छात्रावास बालिका छात्रावास है।…

previous arrow
next arrow
Slider

We Are Social