कोरगा जनजाति में तीरंदाजी प्रतिभा शोध के प्रयास

वनवासी कल्याण कर्नाटक के प्रयासों से 15 अक्टूबर २०१८ को कोरगा जनजाति के बीच तीरंदाजी प्रतिभा शोध हेतु एक प्रशिक्षण वर्ग का आयोजन किया गया. अपने परम्परागत तीरधनुष के साथ जुडी है उनकी नैसर्गिक प्रतिभा, हम उसे प्रशिक्षित कर राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित स्पर्धा में उन्हें ले जाना चाहते है. उडुपी जिला के कुम्भाशी के छात्रावास में आयोजित एस सात दिवसीय प्रशिक्षण शिविर हेतु राष्ट्रीय स्तर के सह खेलकूद प्रमुख प्रबोधनन्द पधारे थे. बाम्मु पाटिल, अमित गोवडा तथा श्री कुमार ने उन्हें प्रशिक्षण सहयोग किया.

कोरगा जनजाति में तीरंदाजी प्रतिभा शोध के प्रयास

तीरंदाजी में आत्मविश्वास का विकास हो इस हेतु इस प्रशिक्षण वर्ग में एक स्पर्धा का आयोजन भी हुआ. यहाँ से १४ प्रतिभागियों का राज्यस्तरीय स्पर्धा के लिए चयन भी हुआ. इस बात से एक बात पक्की हुई की बालकों में कौशल है हमें केवल उन्हें प्रशिक्षण देने की आवश्यकता है.

इस वर्ग के समापन में उडुपी के डेप्युटी कमिश्नर भी पधारे थे जिन्होंने कोरगा बालकों का अभिनन्दन किया और इस प्रशिक्षण वर्ग के आयोजन के लिए कोरगा संगठन और वनवासी कल्याण कर्नाटक की सराहना की. समापन समारोह में विजेता को सम्मानित करते हुए पदक वितरण भी किया.

इस प्रशिक्षण शिविर के आयोजन के लिए गणेश वी. और गणेश कोरगा ने विशेष जिम्मेदारी लेते हुए अपनी भूमिका निभाई. विनीता शेखर और सुदर्शन ने उन्हें सहयोग किया.

प्रेषक : वीणा, बंगलुरु

We Are Social