जनजातीय सुरक्षा मंच ने कलेक्टर, एसडीएम व पुलिस में जताई आपत्ति

 

जनजातीय सुरक्षा मंच के बैनर तलेजनजातीय समाज के लोगों ने कलेक्टर, एसडीएम सहित जशपुर पुलिस को चर्च में करमा त्यौहार न मनाये जाने पर ज्ञापन सोंपा गत वर्ष चर्च के द्वारा इस मामले में लिखित रूप से न्यायलय को देते हुए कहा गया था कि चर्च में ऐसा अब नहीं होगा पर न्यायलय की अवहेलना करते हुए फिर से चर्च में करमा त्यौहार मनाने की तैयारी की है.

करमा हिन्दुओ का पवित्र त्यौहार है और इसकी विशिष्ट पूजा पद्धति है जिसका चर्च में अनुकरण न करते हुए उस पद्धति को अपमानित किया जाता है इसाई मिशनरी सभी पुराने रीतिरिवाज तथा तीज त्यौहार छोड़ चुके हैं ऐसे में गलत तरीके से पूजा को करके अपमानित किया जाता है, जो अवैधानिक है प्रतिनिधियों ने बताया की पिछले वर्ष भी चर्च में यह त्यौहार मानते हुए हमारी पूजा परम्परा को अपमानित किया गया था चर्च के लोगों ने लिखित में गलती स्वीकार कर न्यायलय को यह भरोसा दिलाया था कि वो अवैधानिक कार्य नहीं करेंगे पर प्रतिनिधियों ने कहा की 9 अगस्त को भी उनकी परम्परा का अपमान किए जाने पर शिकायत दर्ज कराई थी ऐसे में उचित कार्यवाई करते हुए चर्च में करमा त्यौहार को मनाने से रोकने और घटना घटित होने से पहले कार्य करने की मांग की है.

ज्ञापन लेकर पहुचे प्रतिनिधियों में सुशीला देवी, लालदेव राम, रामकुमार राम, सियाराम, शंकुतला देवी, जग्मानी भगत, करुण भगत, सीबो रानी सहित अन्य थे.

We Are Social