दिल्ली के बालकों ने वार्षिक उत्सव में दिया पर्यावरण जतन का संदेश

 

वनवासी कल्याण आश्रम-दिल्ली द्वारा संचालित शहीद जादोनांग छात्रावास का वार्षिक उत्सव नरेला (दिल्ली) में 8 दिसम्बर 2018 को सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि के रूप में जनजाति मंत्रालय के राज्य मंत्री सुदर्शन भगत पधारे थे। मुख्य वक्ता क्षेत्रीय संगठन मंत्री भगवान सहाय और प्रमुख समाजसेवी श्री तीर्थ गर्ग समारोह के अध्यक्ष रहे।

छात्रावास के बच्चों ने सामूहिक नृत्य, पंजाबी गीत जैसे कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से अपनी कला का परिचय दिया तथा विशेष बात यानि एक नृत्य के माध्यम से प्लास्टिक के उपयोग से होने वाली हानि से सचेत करते हुए पर्यावरण को बचाने का संदेश दिया।

मंत्री महोदय ने अपने बचपन के छात्रावास के दिनों को याद करते हुए बताया कि कल्याण आश्रम ने शिक्षा के साथ संस्कार सिंचन करने के कारण एक विद्यार्थी के नाते मेरा जीवन में विकास हुआ।  वनवासी कल्याण आश्रम के कारण ही जनजाति समाज में आत्मविश्वास एवं सुरक्षा का भाव निर्माण हुआ है। आज जनजाति समाज अपने रीतिरिवाज परम्पराओं तथा संस्कृति के प्रति भी गौरव महसूस करता है।

भगवान सहाय जी ने अपने उद्बोध्न में वनवासी क्षेत्रों की विभिन्न घटनाओं को बताते हुए सबका मार्गदर्शन किया और कहा कि हमें देश में कई सुदर्शन भगत निर्माण करने है केवल आपका सहयोग चाहिए। हम देश भर में ऐसे 200 से अधिक  छात्रावासों का संचालन कर रहे है उसके लिये व्यक्ति, वस्तु और निधि सबकी आवश्यकता रहती है। हमें विश्वास है कि अपना कार्य सबके सहयोग से गतिमान होगा।

We Are Social