कल्याण आश्रम का प्रतिनिधी मंडल केन्द्रीय ग्रहमंत्री श्री राजनाथसिंह से मिला
धर्मकोड के बारे में किये प्रस्ताव पर चर्चा

अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम का एक प्रतिनिधी मंडल 31 अक्टूबर केन्द्रीय ग्रहमंत्री श्री राजनाथसिंह जी से मिला।
कल्याण आश्रम के अध्यक्ष श्री जगदेवराम उरांव के नेतृत्व मे गए इस प्रतिनिधि मंडल में संयुक्त महामंत्री विष्णुकांत, दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष शांतीस्वरूप बंसल, डा. दीपकलाल क़ुजूर,  केन्द्रिय प्रतिनिधी सुरेश कुलकर्णी भी थे। मा. ग्रहमंत्रीजी जी को कल्याण आश्रम के केन्द्रिय कार्यकारी मंडल द्वारा शिरडी मे पारित प्रस्ताव देकर माँग की गई कि जनजातियों के एक छोटे, दिग्भ्रमित समूह की जनगणना में जनजातियों के लिए अलग धर्मकोड की अतार्किक एवं विघटनकारी माँग की सरकार पूरी तरह अनदेखी करदे। यह माँग न केवल जनजातियों के बल्कि व्यापक रूप से राष्ट्र हितों के भी विरुद्ध है। परदे के पीछे इस माँग को वही शक्तियाँ बढ़ावा देरही हैं जो उनके धर्मांतरण में लगी हुई हैं और जो अब तक यह दुष्प्रचार कर रही हैं कि जनजातियों का कोई धर्म नही होता।
30-31 अक्टूबर व 1 नवंबर को इस आशय का ज्ञापन केन्द्रीय जनजाति कार्य मंत्री जुएल ओराम, राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग व भारत के जनगणना आयुक्त को भी दिया गया।
प्रतिनिधि

We Are Social