Subscribe our News Letter

असम्भव कुछ भी नहीं आन्ध्र प्रदेश के ‘पहाड़ी महिला-पुरूष’ लगें रास्ता बनाने

असम्भव कुछ भी नहीं आन्ध्र प्रदेश के ‘पहाड़ी महिला-पुरूष’ लगें रास्ता बनाने ये समाचार है छोटे, परन्तु बडे़ प्रेरणादायक है। अन्यों के लिए अनुकरणीय भी है। देश के जनजाति क्षेत्र...
Read More

लो ! इस अनाज को ले जाओ, भगवान तुम्हारा भला करे !

लो ! इस अनाज को ले जाओ, भगवान तुम्हारा भला करे ! (संत राजमोहिनी देवी की संक्षिप्त जीवनी) रामलाल सोनी                     ...
Read More

जनजाति धर्म-संस्कृति-परंपरा के साथ हो रही छेडछाड़ बंद हो

जनजाति धर्म-संस्कृति-परंपरा के साथ हो रही छेडछाड़ बंद हो रमेश बाबू जनजति समाज के परंपरागत धर्म संस्कृति, भारत की सनातन संस्कृति का अभिन्न अंग है। वेदों में वर्णित इस जीवन...
Read More

जंगल टुरिजम नई कल्पना, या नया संकट ?

जंगल टुरिजम नई कल्पना, या नया संकट ? आनंद              इशिता खन्ना पर्यटन उद्योग में एक युवा नाम। ये महिला उद्योजक पर्यटाकों को घर जैसी...
Read More

कानपुर ने देखा तीरंदाजी का कौशल और कबड्डी में साहस

कानपुर ने देखा तीरंदाजी का कौशल और कबड्डी में साहस पंडित दीनदयाल उपाध्याय सनातन धर्म विद्यालय-कानपुर में अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम की ओर से 22वी राष्ट्रीय एकलव्य खेलकूद स्पर्धा...
Read More

पद्मश्री – 2020 ज्ञान, गुण, सेवा का सम्मान

पद्मश्री - 2020 ज्ञान, गुण, सेवा का सम्मान भारत सरकार पद्मश्री पुरस्कार उन विशिष्ट लोगों को दिए जा रहे है जो समाज में विकास के लिए रचनात्मक एवं असाधारण कार्य...
Read More

बोडो भाषा स्वाभिमान का मानक

बोडो भाषा स्वाभिमान का मानक असम के बोडो जनजाति की भाषा है बोडो भाषा। समाज के प्रबुद्ध लोगों ने बहुत बड़ी मात्रा में बोडो भाषा में साहित्य का सजृन किया...
Read More

संताली भाषा – संताल परगणा के जनजातियों की अपनी भाषा

संताली भाषा - संताल परगणा के जनजातियों की अपनी भाषा संताली भाषा भारत की पुरातन भाषाओं में से एक और संताल परगणा में बोली जानेवाली जनजाति भाषा है। वैसे ये...
Read More

पढे़-लिखें लोगों की जिम्मेदारी

पढे़-लिखें लोगों की जिम्मेदारी भाषा के कारण समाज के स्वाभिमान का परिचय होता है। समाज जीवन के ‘स्व’ का प्रतिबिम्ब देखने को मिलता है। चाहे व्यक्ति हो या समाज, यदि...
Read More

वनवासी कल्याण आश्रम ब्रु जनजाति के साथ हुई समझौते का स्वागत करता है।

वनवासी कल्याण आश्रम ब्रु जनजाति के साथ हुई समझौते का स्वागत करता है। नागपुर से प्राप्त समाचार अनुसार ज्ञात हुआ कि जातिगत संघर्ष के कारण ब्रु जनजाति के लगभग 34000...
Read More